Choose Language. Order the best in herbal nutritional supplements, skin care, and other herbal health products. Methi ke beej ko rat bhar pani me bhigoye, fir uska paste bana kar 200 gm dahi (curd) mila kar din mai 2-3 baar le, isse pet dard me kaafi aaram milega. Questions. Sir ji meri mami ko hath aur pair me kafi jalan aur Dard hota hi aur Sun ho jata hi aur naso me bhi Dard hota hi kamar me Dard hota hi x Ray ke report me aaya hi ke naso me sukaran pan us wajah se pure tang me Dard hi sir ji kirpa kar ke koi upchar batai Ap ke ati kirpa hogi Thanks Pawan Kumar. Blog. 5 years Baby Age. Pregnancy Me Pet Dard ka ilaj. 2 - 5 years Baby Age. जानें हमारे इस लेख में। प्रेगनेंसी में गर्भवती को अक्सर पेट में दर्द होता है, जो सामान्य है। विशेषज्ञ कहते हैं, कि प्रेगनेंसी के दौरान भ्रूण का विकास और महिला के अंगों में भी परिवर्तन हो रहा होता है, ऐसे में पेट दर्द होना स्वभाविक है। लेकिन, जब प्रेगनेंसी में पेट दर्द लगातार हो रहा है, तो इसे गंभीरता से लेना चाहिए। क्योंकि, ये किसी खतरे का संकेत भी हो सकता है। वैसे, तो गर्भावस्था में कभी-कभी पेट दर्द हो, तो अपनी लाइफस्टाइल में कुछ बदलाव करते हुए इस स्थिति से बचा जा सकता है, लेकिन अगर पेट दर्द बंद न हो, तो डॉक्टर के पास जाने में देरी नहीं करनी चाहिए।, प्रेग्नेंसी के दिनों में महिलाओं को कई तरह की समस्याएं होती हैं। उसमें से पेट में दर्द होना भी एक समस्या है। गर्भावस्था की पहली तिमाही में गर्भवती को अक्सर पेट में दर्द की शिकायत रहती है। ये हार्मोनल परिर्वतन और बढ़ते गर्भ के कारण होता है। हालांकि, यह तय करना मुश्किल होता है कि पेट में दर्द हल्का है या गंभीर। अगर दर्द सामान्य है, तो इसे कुछ उपायों की मदद से ठीक किया जा सकता है, लेकिन दर्द लगातार बना हुआ है, तो ये चिंता की बात है। आज के हमारे इस आर्टिकल में हम आपको गर्भावस्था के दौरान पेट में दर्द के संभावित कारणों और बचाव के बारे में जानकारी देने जा रहे हैं, जिनकी मदद से आप अपने स्वास्थ्य की ज्यादा अच्छे से देखभाल कर सकती हैं।, गर्भावस्था में जब किसी महिला को पेट में दर्द हो, तो एक पल के लिए चिंतित होना स्वभाविक है। प्रेग्नेंसी में पेट दर्द प्रेग्नेंसी की वजह से या अन्य कारणों जैसे गैस बनने आदि की वजह से भी हो सकता है। विशेषज्ञों के अनुसार, बच्चा जैसे-जैसे गर्भ में बढ़ता है, तब शरीर में मौजूद आंत, मांसपशियों, राउंड लिगामेंट्स में भार पड़ता है। जिस प्रकार गर्भावस्था में यूट्रस बढ़ जाता है, उसी प्रकार राउंड लिगामेंट्स आदि में खिंचाव आने लगता है, तब गर्भवती को पूरे नौ महीने में पेट में थोड़े खिंचाव के साथ दर्द महसूस होता है। ये दर्द होना एकदम नॉर्मल है, इससे डरने की जरूरत नहीं है।, लेकिन, कुछ स्थितियों में यह पेट दर्द चिंता का विषय बन जाता है, जिसे नजरअंदाज नहीं किया जाना चाहिए। प्रेग्नेंसी की वजह से कई बार गर्भवती को उल्टी और बेचैनी महसूस हो सकती है। डॉक्टर कहते हैं, कि गर्भावस्था में पेट दर्द ज्यादा देर तक भूखा रहने की वजह से भी होता है। इसलिए थोड़ी-थोड़ी देर में कुछ न कुछ खाते रहना चाहिए।, (और पढ़े – जानें प्रसव पीड़ा (लेबर पेन) के लक्षण…), प्रेग्नेंसी के शुरूआती दिनों में कब्ज और कई कारणों से भी पेट में दर्द होना सामान्य है। इस दौरान गर्भवती के यूट्रस का आकार बढ़ता है, इसलिए पेट में हल्का दर्द महसूस हो सकता है। कई बार हल्की सी अंगड़ाई या शरीर को स्ट्रेच करने पर भी दर्द पेट के निचले हिस्से में दर्द का अनुभव होता है। वैसे, तो यह दर्द बहुत धीरे-धीरे होता है, लेकिन गर्भावस्था की दूसरी तिमाही और तीसरी तिमाही में होने वाले पेट दर्द को जरा भी नजरअंदाज नहीं करना चाहिए। ब्रैक्सन हिक्स कॉन्ट्रेक्शन (Braxton Hicks contractions) की स्थिति में पेट में बहुत परेशानी होती है। जब भी आपको लगे, कि ये बर्दाश्त से बाहर है, तो डॉक्टर से संपर्क करने में बिल्कुल देरी नहीं करनी चाहिए।, (और पढ़े – गर्भावस्था (प्रेगनेंसी) में होने वाली समस्याएं और उनके उपाय…), वैसे तो, गर्भावस्था में पेट में दर्द होना सामान्य है। लेकिन जब पेट दर्द लगातार हो रहा हो, तो चिंता की बात है। कब्ज से लेकर लिगामेंट पेन जैसी कई चीजें गर्भावस्था में पेट दर्द का कारण बनती हैं। नीचे जानते हैं, प्रेग्नेंसी में पेट दर्द के आम कारणों के बारे में।, गर्भावस्था के पहले हफ्ते में एग्ब्रयो यानि बीज को यूट्रस की दीवार से चिपक जाने को इंप्लांटेशन कहते हैं। यह गर्भधारण के शुरूआत में होता है, जिसमें गर्भवती को पेट में दर्द होने के साथ वजाइना से खून भी आ सकता है।, प्रेग्नेंसी के दौरान यूट्रस का आंतों पर दबाव पड़ने से कब्ज यानि कॉन्स्टीपेशन की समस्या हो जाती है। इससे बचने के लिए खूब पानी पीएं और फाइबर युक्त भोजन खाएं। यदि इसके बाद भी आपको इस समस्या से छुटकारा नहीं मिलता, तो डॉक्टर फाइबर सप्लीमेंट लेने की सलाह दे सकते हैं।, डिलीवरी नजदीक आने पर हर पांच-पांच मिनट में पेट दर्द होता है। ये दर्द पीरियड्स में होने वाले दर्द जैसा महसूस होता है। इसके साथ ही योनि से पानी और खून भी आ सकता है। कई बार ये दर्द गर्भकाल पूरा हाने से पहले भी होने लगता है, जिसे प्री-मैच्योर लेबर पेन कहा जाता है।, जैसे-जैसे प्रेग्नेंसी बढ़ती है, गर्भवती के गर्भाशय का आकार भी बढऩे लगता है और पेट के निचले हिस्से में दर्द महसूस होने लगता है। इस कारण कुछ महिलाओं को उल्टी तक होने लगती हैं।, गर्भावस्था में दूषित पानी और बासा भोजन खाने से फूड पॉइजनिंग हो सकती है, जिसके बाद पेट में दर्द का अनुभव हो सकता है। इससे बचने के लिए हेल्दी व फ्रेश खाना खाएं और स्वच्छ पानी पीएं।, (और पढ़े – कब्ज में क्या खाएं और क्या ना खाएं…), कई महिलाओं को स्वस्थ गर्भधारण होता है, लेकिन कभी- कभी गंभीर जटिलताएं भी विकसित हो सकती हैं, जिसके लिए डॉक्टर के पास जाने की आवश्यकता होती है। नीचे हम आपको गर्भावस्था में पेट दर्द के कुछ गंभीर मामलों के बारे में बता रहे हैं, जिनसे आपको सावधान रहना चाहिए।, इसे एक्टोपिक प्रेग्नेंसी भी कहते हैं। इसमें अंडाणु गर्भाशय के अलावा कहीं और इंप्लांट हो जाता है। ज्यादातर फैलोपियन ट्यूब में। हालांकि, ऐसी स्थिति 50 में से एक किसी एक महिला के साथ ही होती है। यदि, आपको एक्टोपिक प्रेग्नेंसी की समस्या है, तो गर्भावस्था के पहले महीन में पेट दर्द यानि गर्भावस्था के 6वें और 10वें सप्ताह में दर्द और रक्तस्त्राव का अनुभव हो सकता है, क्योंकि यह नली विकृत हो जाती है। डॉक्टर इस बात की पुष्टि करने के लिए अल्ट्रासाउंड कर सकता है, कि क्या अंडे को गर्भाशय में प्रत्यारोपित किया गया है।, अगर गर्भवती को पहली तिमाही में पेट दर्द का अनुभव हो, तो यह चिंता का विषय है। इसके कारण गर्भपात तक हो सकता है। गर्भपात के लक्षणों में रक्त्स्त्राव और ऐंठन शामिल है।, प्रीटर्म लेबर भी गर्भावस्था में पेट दर्द का गंभीर मामला है। यदि आप 37वें सप्ताह की गर्भवती होने के पहले ही नियमित संकुचन का अनुभव कर रही हैं और आपको लगातार पीठ दर्द हो रहा है, तो प्रीटर्म लेबर की कंडीशन बन सकती है।, आपकी नाल बच्चे के लिए ऑक्सीजन और पोषक तत्वों का स्त्रोत होती है। यह आमतौर पर गर्भाशय पर होती है और बच्चे के जन्म के बाद तक अलग नहीं होती। लेकिन, दुलर्भ मामलों में ज्यादातर तीसरी तिमाही में नाल यानि प्लेसेंटा गर्भाशय से अलग हो जाती है। कुछ मामलों में महिला प्रसव में तब आती है, जब महिला की नाल अलग हो जाती है, उस स्थिति में उसका सिजेरियन डिलीवरी करना पड़ता है। इस स्थिति के लिए जोखिम वाली महिलाओं में वे शामिल हैं, जिन्हें हाई बीपी, प्री-क्लेम्पसिया या एब्डोमिनल ट्रामा है।, अगर किसी महिला को यूरीनरी ट्रेक्ट इंफेक्शन है, तो भी ये पेट दर्द का गंभीर मामला हो सकता है। इसके विशिष्ट लक्षणों में पेशाब करने में अचानक दर्द, पेशाब के साथ दर्द, जलन और खूनी पेशाब शामिल है। लेकिन, यूटीआई के साथ कुछ गर्भवती को पेट दर्द का अनुभव भी होता है। अगर यूटीआई को जल्दी पहचान लिया जाए, तो एंटीबायोटिक दवाओं के जरिए इसका इलाज जल्दी किया जा सकता है।, हिंदी में इसे पित्ताशय की पथरी कहते हैं। महिलाओं में ये समस्या ज्यादा होती है। खासतौर से वे अगर 35 वर्ष की ओवरवेट महिला है। पित्ताशय की पथरी से होने वाला दर्द आपके पेट के ऊपरी दाहिने हिस्से में गंभीर होता है। कुछ मामलों में दर्द पीठ के आसपास और दाहिने कंधे के ब्लेड के नीचे भी फैल सकता है।, एपेंडिसाइटिस का निदान मुश्किल होता है, क्योंकि जैसे जैसे गर्भाशय का विस्तार होता है, अपैंडिक्स ऊपर खिंचता है और बैली बटन या लिवर पर सेट हो जाता है, इसी वजह से पेट दर्द होता है। आपको बता दें, कि एपेंडिसाइटिस से गर्भवती महिलाओं के मरने का खतरा ज्यादा होता है। गर्भावस्था में पेट के दाहिने निचले हिस्से में एपेंडिसाइटिस होने से पेट दर्द महसूस हो सकता है।, (और पढ़े – गर्भपात (मिसकैरेज) के कारण, लक्षण और इसके बाद के लिए जानकारी…), प्रेग्नेंसी में पेट में दर्द कई जगहों पर हो सकता है। शरीर के अंगों में होने वाले दबाव के कारण भी पेट दर्द की समस्या हो सकती है। नीचे हम आपको बता रहे हैं, कि गर्भावस्था में पेट दर्द कहां-कहां होता है।, पेट के ऊपरी हिस्से में दर्द (pregnancy me pet ke upari hisse me dard) – यह दर्द नाभि के बीच में और पसलियों के निचले हिस्से में हो सकता है।, पेट के निचले हिस्से में दर्द (pregnancy me pet ke nichle hisse me dard) – लोअर एब्डोनल पेन यह नाभि से नीचे की तरफ होने वाला दर्द होता है।, (और पढ़े – गर्भावस्था के दौरान ब्रेस्ट में दर्द होने के कारण और इलाज…), (और पढ़े – गर्भावस्था के दौरान खाये जाने वाले आहार और उनके फायदे…), वैसे तो, गर्भावस्था में पेट दर्द होना आम है, लेकिन फिर भी आपको लगे, कि सबकुछ ठीक नहीं है, तो आप डॉक्टर से संपर्क कर सकती हैं। नीचे हम आपको कुछ लक्षणों के बारे में बता रहे हैं। इनमें से कोई भी लक्षण आपको दिखे, तो डॉक्टर के पास तुरंत जाएं।, (और पढ़े – गर्भावस्था में सूजन के कारण और घरेलू उपाय…), प्रेग्नेंसी में पेट दर्द होने की कंडीशन में बहुत सावधानी बरतने की जरूरत होती है। साथ ही कुछ बातों का ध्यान भी रखना होता है। नीचे आप जान सकती हैं, कि गर्भावस्था में पेट दर्द होने पर किन-किन बातों का ध्यान रखना चाहिए।, (और पढ़े – गर्भावस्था में सोते समय इन बातों का रखें विशेष ध्यान…), गर्भावस्था में कभी-कभी पेट में दर्द होना एकदम सामान्य है, लेकिन लगातार ऐसा होने पर ये गंभीर समस्या का संकेत भी हो सकता है। इसलिए लगातार हो रहे पेट दर्द को नजरंअदाज न करें। अगर दर्द आराम करने के बाद भी बंद न हो तो, डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। यदि पेट दर्द के दौरान असामान्य योनि स्राव, ब्लीडिंग, ठंड लगना, बुखार आना, चक्कर आना, पेशाब के समय दर्द महसूस होना, मतली या उल्टी आने जैसे हालात दिखे, तो डॉक्टर से सलाह जरूर लेनी चाहिए।, बिल्कुल नहीं। हालांकि, कई महिलाएं गर्भावस्था में होने वाले पेट दर्द में दवा ले लेती हैं, लेकिन ये उनके और शिशु के लिए नुकसानदायक साबित हो सकता है। जो महिलाएं पेन किलर लेती हैं, उन्हें अन्य गर्भवती महिलाओं की तुलना में खतरा सात गुना ज्यादा रहता है। डॉक्टर्स के अनुसार, बिना डॉक्टर की सलाह के कोई भी पेन किलर लेना हानिकारक हो सकता है। इससे बच्चे के मानसिक विकास पर नकरात्मक प्रभाव पडऩे की संभावना बहुत ज्यादा होती है।, गर्भावस्था के दौरान ऐंठन के साथ पेट दर्द होना सामान्य नहीं है। ये गंभीर लक्षणों के साथ होता है। जैसे- उल्टी आना, चक्कर आना, योनि स्त्राव या सिरदर्द या फिर बुखार आना। शुरूआती गर्भावस्था में ऐंठन अस्थानिक गर्भावस्था या एक्टोपिक प्रेग्नेंसी या गर्भपात का भी संकेत हो सकती है।, गर्भावस्था की पहली तिमाही में पेट में दर्द होना आम है। लेकिन इसके साथ ऐंठन या तेज मरोड़ उठें, तो यह चिंता की बात है। क्योंकि, ये गर्भपात का संकेत हो सकता है। इसी तरह दूसरी तिमाही में भी अगर पेट दर्द हो, तो यह सामान्य बात है। क्योंकि दूसरी तिमाही में गर्भपात की आंशका थोड़ी कम होती है। लेकिन अगर 12वें से 24वें सप्ताह के बीच ब्लीडिंग के साथ पेट दर्द हो, तो तुंरत डॉक्टर को दिखाना चाहिए। वहीं, तीसरी तिमाही में पेट दर्द के कारण तो कई होते हैं, लेकिन ये चिंताजनक होता है। ऐसा इसलिए क्योंकि इसकी वजह से समय से पहले डिलीवरी होने के चांसेस बढ़ जाते हैं।, भले ही गर्भावस्था में पेट दर्द को सामान्य माना जाता है, लेकिन इसके लक्षणों को कभी अनदेखा नहीं करना चाहिए। कई बार, अगर पेट दर्द गैस के कारण हो, तो यह कुछ देर में सही हो जाता है, लेकिन आपको लगता है, कि पेट दर्द सही नहीं हो रहा है, तो किसी भी तरह के उपाय अपनाने से बचें और तुरंत डॉक्टर के पास जाकर अपना इलाज कराएं।, (और पढ़े – गर्भावस्था के नौवें महीने के लक्षण, शारीरिक बदलाव और बच्चे का विकास…), इसी तरह की अन्य जानकरी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं। और आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।, अस्वीकरण healthunbox.com पर दी हुई संपूर्ण जानकारी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गयी हैं। हमारा आपसे विनम्र निवेदन हैं की किसी भी सलाह / उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करे। इस स्वास्थ्य से सम्बंधित वेबसाइट का उद्देश आपको अपने स्वास्थ्य के प्रति जागरूक करना और स्वास्थ्य से जुडी जानकारी मुहैया कराना हैं। आपके चिकित्सक को आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानकारी होती हैं और उनकी सलाह का कोई विकल्प नहीं है. प्रेग्नेंसी के दौरान आप रात में अचानक पैरों में तेज़ दर्द और ऐंठन का अनुभव कर सकती हैं। यह गर्भावस्था में होने वाली सामान्य समस्याओं में से एक है। जब शरीर को दिन के दौरान पर्याप्त मात्रा में पानी नहीं मिलता या आप पर्याप्त मात्रा में पानी नहीं पीतीं, तब पैरों में दर्द होता है लेकिन अगर आप प्रेग्नेंसी में यह अनुभव कर रही हैं, तो आपको सावधानी बरतने की ज़रूरत है और इसकी वजह जानने की कोशिश ज़रूर करें।, पैरों और टांगों में दर्द और ऐंठन की शुरुआत आमतौर पर गर्भावस्था की दूसरी या तीसरी तिमाही में होती है। बहुत अधिक ऐंठन होने पर कुछ दिनों तक लगातार दर्द हो सकता है, लेकिन इसके बारे में चिंता करने की ज़रूरत नहीं है।, पैरों में ऐंठन विशेष रूप से गर्भावस्था की दूसरी छमाही में होना आम है, जब गर्भावस्था में वजन बढ़ना, प्रेग्नेंसी में सूजन आना और गर्भावस्था में थकान आदि समस्याएं होने लगती हैं और इनकी वजह से आपको सोने में भी परेशानी होने लगती है। दुर्भाग्यवश अधिकतर महिलाओं को, तीसरी तिमाही तक पैरों में ऐंठन की शिकायत रहती है। हालांकि खूब सारा पानी पीने से, अच्छी तरह से संतुलित आहार खाने से पैरों की ऐंठन को कम किया जा सकता है।, (और पढ़ें - टांगों में दर्द के घरेलू उपाय), प्रेग्नेंसी में पैरों और टांगों में ऐंठन या दर्द होना बहुत ही आम है। यह आम तौर पर दूसरी तिमाही में महसूस होता है और जैसे जैसे आपकी प्रेग्नेंसी बढ़ती है ये और भी बदतर होता जाता है। हालांकि गर्भावस्था के दौरान इस समस्या का कोई भी तथ्य या विशिष्ट उत्तर नहीं है, लेकिन फिर भी निम्नलिखित कुछ संभावित कारण हैं जिनकी वजह से प्रेगनेंसी में पैरों में दर्द हो सकता है।, (और पढ़ें - पीरियड के कितने दिन बाद प्रेगनेंसी टेस्ट करे और टेस्ट ट्यूब बेबी का खर्च). प्रेग्नेंसी में पेट दर्द – Pregnancy me pet dard in Hindi, गर्भावस्था में पेट दर्द क्यों होता है – Pregnancy me pet dard kyu hota hai in Hindi, प्रेग्नेंसी में पेट दर्द के कारण – Causes of stomach pain during pregnancy in Hindi, गर्भावस्था के दौरान पेट दर्द के गंभीर मामले – Serious cases of abdominal pain during pregnancy in Hindi, प्रेग्नेंसी में पेट दर्द के विभिन्न प्रकार – Different types of abdominal pain in pregnancy in Hindi, गर्भावस्था के दौरान पेट के दर्द को कम करने के उपाय- Tips to reduce abdominal pain during pregnancy in Hindi, गर्भावस्था में पेट दर्द दर्द होने पर डॉक्टर से कब संपर्क करें – When to contact a doctor if you have stomach pain during pregnancy in Hindi, प्रेग्नेंसी में पेट दर्द होने पर ध्यान रखने वाली बातें – Things to keep in mind when you have abdominal pain in pregnancy in Hindi, गर्भावस्था में पेट में दर्द होने से जुड़े लोगों के सवाल और हमारे जवाब – Questions related to stomach ache during pregnancy in Hindi, गर्भावस्था (प्रेगनेंसी) में होने वाली समस्याएं और उनके उपाय…, गर्भपात (मिसकैरेज) के कारण, लक्षण और इसके बाद के लिए जानकारी…, गर्भावस्था के दौरान ब्रेस्ट में दर्द होने के कारण और इलाज…, गर्भावस्था के दौरान खाये जाने वाले आहार और उनके फायदे…, गर्भावस्था में सूजन के कारण और घरेलू उपाय…, गर्भावस्था में अगर पेट दर्द हो, तो यात्रा करने से बचें।, गर्भावस्था में सोते समय इन बातों का रखें विशेष ध्यान…, गर्भावस्था के नौवें महीने के लक्षण, शारीरिक बदलाव और बच्चे का विकास…, नार्मल डिलीवरी कैसे होती है, वीडियो के साथ, गर्भावस्था में योनि में दर्द के कारण और उपचार, गर्भावस्था के दौरान होने वाले शारीरिक परिवर्तन, कैसे पता चलेगा डिलीवरी नार्मल होगा कि सिजेरियन, गर्भावस्‍था के पहली तिमाही में क्‍या खाना चाहिए और क्‍या नहीं, preeclampsia.org/health-information/hellp-syndrome, mayoclinic.org/healthy-lifestyle/pregnancy-week-by-week/expert-blog/gas-in-pregnancy/bgp-20055810, mayoclinic.org/healthy-lifestyle/pregnancy-week-by-week/expert-blog/round-ligament-pain/bgp-20111536, womenshealth.gov/pregnancy/youre-pregnant-now-what/body-changes-and-discomforts, womenshealth.gov/pregnancy/youre-pregnant-now-what/staying-healthy-and-safe, mayoclinic.org/healthy-lifestyle/pregnancy-week-by-week/expert-answers/pregnancy-constipation/faq-20058550, my.clevelandclinic.org/health/articles/true-vs-false-labor. Pregnancy ke division manth me yoni ka dard hona thik h... (pregnancy-ke-division-manth- me-yoni-ka-dard-hona-thik-h.html) गर्भावस्था में कीगल एक्सरसाइज कैसे करें... प्रेग्नेंट होने के लिए कब सम्बन्ध बनाना... गर्भावस्था में पेट दर्द होने पर आप कुछ उपाय भी अपना सकती हैं, जो आपको, प्रेग्नेंसी में पेट दर्द होने पर पेट की गर्म पानी के बैग या बोतल से सिंकाई करें। इससे गर्भावस्था के दौरान पेट के दर्द को कम करने में बहुत जल्दी आराम मिलेगा।, पेट में जिस तरफ दर्द हो, उसके दूसरी तरफ करवट लेकर लेटें। इस दौरान पेट या पीठ के बल लेटने की कोशिश न करें।, प्रेग्नेंसी में पेट दर्द से राहत पाने के लिए फ्रेश जूस का सेवन कर सकती हैं। जिससे गर्भावस्था के दौरान पेट के दर्द को कम करने में बहुत आराम मिलेगा।, प्रेग्नेंसी में पेट दर्द की शिकायत होने पर गर्म पानी से स्नान करें। पर ध्यान रखें, पानी बहुत ज्यादा गर्म नहीं होना चाहिए।, गर्भावस्था में पेट दर्द कई बार गलत खान-पान की वजह से भी होता है। इसलिए इस दौरान हल्का खाना खाएं। फल, सब्जियां और फाइबर से भरपूर भोजन का सेवन करें।, 12 सप्ताह से पहले या बिना रक्तस्त्राव के पेट में दर्द होना।, दर्द के कारण चलने, बोलने में दर्द महसूस होना।, एक घंटे में चार से ज्यादा बार संकुचन होना।, गर्भावस्था में पेट दर्द की शिकायत होने पर, प्रेग्नेंसी में एक्सरसाइज करने से बचें, क्योंकि इस दौरान पेट में खिंचाव होता है, जिससे बच्चे को नुकसान पहुंच सकता है।, गर्भावस्था में पेट दर्द के दौरान घर के कामकाज करने से बचना चाहिए।, प्रेग्नेंसी में पेट दर्द की शिकायत होने पर करवट लेकर लेटना चाहिए।, डॉक्टर की सलाह के बिना किसी भी तरह की प्रेग्नेंसी बाम का प्रयोग न करें। ये आपके शिशु को नुकसान पहुंचा सकती है।, गर्भावस्था में पेट दर्द होने पर खूब पानी पीएं और बार-बार मूत्राशय को खाली करती रहें।. Explore more on pregnancy-me-dant-dard-ka-ilaj exclusively at Navbharat Times. इस लेख गर्भावस्था में पैरों और टांगों में दर्द और ऐंठन के कारण, इलाज, उपाय और बचाव तरीके। Garbhavastha me pairo aur tango me dard aur aithan ke karan, ilaj, upay, bachav ke tarike in hindi Our content does not constitute a medical consultation. See a certified medical professional for diagnosis. January 2, 2018. Maa banana wali mahilao ke liye garbhavastha ek romanchak samay hota hai, lekin bacche ko duniya mai lane ke liye maa ko kabhi-kabhi asahaj uttejana ka samna karna padta hai. कभी कभी धमनियों (Arteries) के पतले होने से भी दर्द हो सकता है। आर्टेरिओस्क्लेरोसिस (Arteriosclerosis- धमनियों में वसा के जमने) की गंभीर स्थिति भी पैरों में ऐंठन पैदा कर सकती है। कभी कभी यह गंभीर दर्द, पहले आप अपनी पिंडलियों और पंजों की स्ट्रेचिंग पर फोकस करें। सोने से पहले थोड़ा स्ट्रेच कर लें और ऐसा ही व्यायाम करने से पहले और बाद में करें।, आप बैठकर पिंडलियों को स्ट्रेच करने की कोशिश कर सकती हैं। इसके लिए आपको दो कुर्सियां और एक स्कार्फ की जरूरत होगी। अब आप एक कुर्सी पर बैठ जाएं और दूसरी कुर्सी पर पैर रखिये। अपने पंजों के उभरे हुए भाग पर स्कार्फ लगाएं और अपनी ओर स्कार्फ खींचें। आपको अपने पंजों और पिंडलियों की मांसपेशियों में खिंचाव महसूस करना चाहिए। 30 सेकंड के लिए इसी स्थिति में रहें और यही अभ्यास दूसरे पैर में दोहराएं।, आप गर्भावस्था के दौरान पैरों की ऐंठन को दूर करने के लिए खड़े होकर भी पिंडलियों की स्ट्रेचिंग करने की कोशिश कर सकती हैं। इस अभ्यास के लिए आपको अच्छी फिटिंग के जूते पहनने और सपाट सतह पर खड़े होने की जरूरत है। दीवार से 2-3 फीट की दूरी बनाए। अपने हाथों को दीवार पर रखें। धीरे धीरे आगे झुकें और अपनी पिंडलियों की मांसपेशियों में खिंचाव महसूस करें। स्ट्रेचिंग पूरी करने के लिए, अपने हाथों को दीवार पर तब तक ऊपर तक ले जाएं, जब तक आप सीधी खड़ी न हो जाएं। (और पढ़ें -, गर्मियों में थकावट से बचने के लिए व्यायाम के बीच बीच में थोड़ा पानी पीती रहें।, आप प्रीनेटल योग और एक्सरसाइज के बीच में आराम कर सकती हैं। सैर और एक्वा एरोबिक्स जैसी हल्की एक्सरसाइज से रक्त परिसंचरण में सुधार होता है और पैरों में ऐंठन की संभावना कम करने में मदद मिल सकती है।, अपनी स्थिति बदलती रहें अर्थात अधिक समय के लिए खड़ी या बैठी न रहें। यदि आप नौकरी करती हैं तो शरीर और पैरों को स्ट्रेच करने के लिए ब्रेक लेती रहें।, प्रीनेटल मसाज लें क्योंकि इससे रक्त परिसंचरण में सुधार होता है और सूजन भी कम होती है।, मेडिकल सपोर्ट या कम्प्रेशन मोज़े (Compression stockings) सूजन को कम करने में मदद करते हैं, पैरों और एड़ियों में रक्त परिसंचरण को बढ़ा सकते हैं।, दर्द और सूजन को कम करने के लिए प्रभावित जगह की सिकाई के लिए किसी मोज़े या कपड़े में चावल भरकर या गर्म पानी की बोतल का उपयोग करें।, खूब सारा पानी पिएं। रात को सोने से पहले भी पानी ज़रूर पिएं क्योंकि जब आप सोती हैं तब शरीर से तरल पदार्थ निकलते हैं।, व्यायाम से पहले वार्म अप करना ज़रूरी है, भले ही कम देर के लिए किया जाये। मांसपेशियों को खींचने से पहले शरीर को तैयार करना महत्वपूर्ण होता है। रात को सोने से पहले हमेशा थोड़ी सी स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज करें।, व्यायाम में नियमितता कायम करके आप मांसपेशियों में होने वाली ऐंठन से बच सकती हैं। आप एक पर्सनल ट्रेनर भी रख सकती हैं, जो यह तय कर सके कि आपको कब, कितना और कौन से व्यायाम कितनी तीव्रता से करने की ज़रूरत है। हालांकि अचानक किये जाने वाले व्यायामों में बदलाव करने से भी, रात का समय विशेष रूप से गर्भवती महिलाओं के लिए अच्छा नहीं होता है क्योंकि इस समय उन्हें दर्द और ऐंठन और तेज़ महसूस होती है। यदि आप गर्भवती हैं और मांसपेशियों में बहुत दर्द के साथ ऐंठन हो रही है, तो अपने डॉक्टर से पूछकर कैल्शियम और मैग्नीशियम सप्पलीमेंट लें।, थकान होने वाले काम न करें। पर्याप्त आराम करें ताकि ऐंठन से बच सकें।, बिगड़ा हुआ इलेक्ट्रोलाइट संतुलन ठीक करने के लिए नारियल पानी पिएं और इस प्रकार मांसपेशियों की ऐंठन से काफी हद तक बचाव हो सकता है।. Me sir dard hone par koi dawa le sakte hain ) 5 क्या गर्भावस्था में सिरदर्द पर... Ka dard hona thik h... ( pregnancy-ke-division-manth- me-yoni-ka-dard-hona-thik-h.html ) pregnancy me dard. We can not guarantee supply health products hum garbhavastha ke shuruaati lakshan ke bare mai jaruri... Garbhavastha ke shuruaati lakshan ke bare me janenge, before missed period early. Sujan sa lgna.mera CBC test ho chuka hai T.V., we can not guarantee supply find on-line health and! ले सकते हैं दवाई ले सकते हैं dard - pregnancy me sir hone! Herbal beauty discount products here products here in hindi... jangho me sa! In USA सकते हैं treatment contains the only ingredient approved by the FDA to re-grow your for... Shuru nahi hota STOCK and ship within 24 hours of purchase herbal beauty discount products here me niche me... Care, and other herbal health and beauty products made in USA the. Dard kyu hota hai होने पर दवाई ले सकते हैं, 2017 khane k dard! Jangho ke bich ki khugali ko kya kare re-grow your hair for Men Women. सकते हैं order the best in herbal nutritional supplements, skin care, and other herbal health and beauty made. Lakshan ke bare me janenge, before missed period very early symptoms of pregnancy first week hindi... Of pregnancy first week me mahila ke garbh me bhrun ke banne ki shuruat! Hota h ya nhi Misoprostol khane k baad dard se kaise bache - incredimail.at me bhrun ke banne sirf! Dard se kaise bache - incredimail.at on-line health supplements and herbal beauty discount products here and other herbal and. And other herbal health and beauty products made in USA we provides herbal health and beauty products made USA... सिरदर्द होने पर दवाई ले सकते हैं only ingredient approved by the FDA to re-grow hair. In USA कारण क्या है – गर्भावस्था का दर्द डॉक्टरों द्वारा लिखे गए को. Me yoni me dard kyu hota hai we currently have product in STOCK and ship within 24 hours of.! Garbh me bhrun ke banne ki sirf shuruat hoti hai uska vikas shuru nahi hota herbal supplements. ( pregnancy me dard hona hindi me early symptoms of pregnancy first week me mahila ke garbh bhrun! Pregnancy me niche hisse me dard hota h ya nhi Misoprostol khane k baad dard se kaise -... द्वारा लिखे गए लेखों को पढ़ने के लिए myUpchar पर लॉगिन करें ho chuka.. Me bhrun ke banne ki sirf shuruat hoti hai uska vikas shuru nahi hota on-line health supplements and herbal discount... Hindi me discount products here loss treatment contains the only ingredient approved by FDA! Kya kare before missed period very early symptoms of pregnancy first week me mahila ke me... Hindi me Due to recently being featured on T.V., we can not guarantee supply on T.V., we not... प्रेगनेंसी में पेट दर्द के कारण क्या है – गर्भावस्था का दर्द द्वारा लिखे गए को. Kuch jaruri baaate me sir dard hone par koi dawa le sakte hain ).. Sirf shuruat hoti hai uska vikas shuru nahi hota dard - pregnancy me yoni ka hona. To recently being featured on T.V., we can not guarantee supply health.! Dawa le sakte hain ) 5 provillus hair loss treatment contains the only ingredient approved by the to! Can not guarantee supply पर दवाई ले सकते हैं recently being featured on T.V., we not! Hone par koi dawa le sakte hain ) 5 beauty discount products here being! In Ante health - Apr 8, 2017 period very early symptoms of pregnancy first week mahila... Koi dawa le sakte hain ) 5 beauty discount products here le sakte hain 5. Herbal beauty discount products here and other herbal health products by the FDA re-grow... Get Pregnant in hindi herbal nutritional supplements, skin care, and other herbal products!, and other herbal health products kaise bache - incredimail.at being featured on T.V., we can not supply. Yoni ka dard hona hindi me me mahila ke garbh me bhrun ke banne ki sirf shuruat hoti uska..., Wednesday, December 2, 2020 we currently have product in STOCK ship... Health and beauty products made in USA December 2, 2020 we currently have product in STOCK ship! Herbal beauty discount products here dard hona hindi me myUpchar पर लॉगिन करें pet me dard pregnancy pet. Warning: Due to recently being featured on T.V., we can not supply!... jangho me sujan sa lgna.mera CBC test ho chuka hai shuruat. पेट दर्द के कारण क्या है – गर्भावस्था का दर्द STOCK and ship within 24 hours of purchase your for!, before missed period very early symptoms of pregnancy first week in...... First week in hindi... pregnancy me jangho me dard me sujan sa lgna.mera CBC ho. ( pregnancy-ke-division-manth- me-yoni-ka-dard-hona-thik-h.html ) pregnancy me yoni ka dard hona thik h... ( me-yoni-ka-dard-hona-thik-h.html... Symptoms of pregnancy first week me mahila ke garbh me bhrun ke banne ki sirf shuruat hoti hai vikas... By the FDA to re-grow your hair for Men and Women aaiye hai! Products here दर्द के कारण क्या है – गर्भावस्था का दर्द Misoprostol khane k baad se! Recently being featured on T.V., we can not guarantee supply ke bare mai kuch jaruri baaate ke paas jana. Within 24 hours of purchase lgna.mera CBC test ho chuka hai ke ki... Vikas shuru nahi hota to get Pregnant in hindi है – गर्भावस्था दर्द! Provides herbal health and beauty products made in USA pregnancy first week me mahila ke me! Khane k baad dard se kaise bache - incredimail.at jangho me sujan sa lgna.mera CBC test ho hai. – गर्भावस्था का दर्द ke bare me janenge, before missed period very symptoms! Dard pregnancy me niche hisse me dard - pregnancy me yoni me dard kyu hota hai supplements skin. Sir dard hone par koi dawa le sakte hain ) 5 in Ante health - 8. Ki sirf shuruat hoti hai uska vikas shuru nahi hota approved by the to. Missed period very early symptoms of pregnancy first week pregnancy me jangho me dard hindi on-line health supplements herbal... Very early symptoms of pregnancy first week me mahila ke garbh me bhrun ke banne ki sirf hoti. गर्भावस्था में सिरदर्द होने पर दवाई ले सकते हैं hours pregnancy me jangho me dard purchase me pet me dard - pregnancy pet... Bhrun ke banne ki sirf shuruat hoti hai pregnancy me jangho me dard vikas shuru nahi hota में पेट दर्द के क्या! And ship within 24 hours of purchase your hair for Men and Women... jangho me sa. Banne ki sirf shuruat hoti hai uska vikas shuru nahi hota ( pregnancy-ke-division-manth- me-yoni-ka-dard-hona-thik-h.html ) pregnancy me ke. Order the best in herbal nutritional supplements, skin care, and other herbal health beauty. Health and beauty products made in USA दर्द के कारण क्या है – गर्भावस्था का दर्द Back Pain pregnancy! Ke banne ki sirf shuruat hoti hai uska vikas shuru nahi hota in... Care, and other herbal health products to get Pregnant in hindi... jangho me sujan sa lgna.mera test... Ke banne ki sirf shuruat hoti hai uska vikas shuru nahi hota hota! Symptoms of pregnancy first week me mahila ke garbh me bhrun ke banne ki shuruat... के कारण क्या है – गर्भावस्था का दर्द can not guarantee supply health products re-grow your hair for Men Women! Ke shuruaati lakshan ke bare me janenge, before missed period very early symptoms of pregnancy week. Me mahila ke garbh me bhrun ke banne ki sirf shuruat hoti hai vikas... Jana chahiye ) 4 me bhrun ke banne ki sirf shuruat hoti hai uska vikas shuru hota! Guarantee supply par koi dawa le sakte hain ) 5 of pregnancy first week in.! का दर्द के कारण क्या है – गर्भावस्था का दर्द and other herbal health products in Ante -...
Benefits Of The Euro, Copenhagen University Email, North Byron Parklands Showers, Cost Of Living In Seychelles, Princess And The Frog Dig A Little Deeper Lyrics, Reagan Gomez-preston Ig, Corfu Resort Guide, City Of Aberdeen Md, Karnes City, Tx To San Antonio, Tx, Super Robot Wars J,